तहसील

जिला पंचकूला मे तीन तहसील व दो सब तहसील है।

तहसील का नेतृत्व तहसीलदार द्वारा किया जाता हैं। तहसीलदार और नायब तहसीलदार राजस्व प्रशासन में प्रमुख अधिकारी हैं और सहायक कलेक्टर, द्वितीय श्रेणी के व्यायाम अधिकार हैं। विभाजन के मामले तय करते समय तहसीलदार सहायक कलेक्टर, प्रथम श्रेणी की शक्तियां ग्रहण करता है। उनका मुख्य कार्य राजस्व संग्रहण है। तहसीलदार और नायब तहसीलदार को उनके क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर यात्रा करनी पडती है। राजस्व रिकॉर्ड और फसल के आंकड़े भी उनके द्वारा सम्भाले जाते हैं।

तहसीलदार और नायब तहसीलदार सरकार को देय भूमि राजस्व और अन्य देय राशि के संग्रह के लिए जिम्मेदार हैं। अधीनस्थ राजस्व कर्मचारियों के संपर्क में रहने के लिए, मौसम की स्थिती, फसलों की स्थिति की जानकारी के लिए, किसानों की कठिनाइयों को सुनने के लिए, ताकावी ऋण वितरित करने के लिए तहसीलदार और नायब तहसीलदार बड़े पैमाने पर अपने अधिकार क्षेत्र का दौरा करते हैं। वे मौके पर तत्काल मामलों का निर्णय लेते हैं, जैसे खाता पुस्तकों में प्रविष्टियां सुधारना, प्राकृतिक आपदाओं का सामना करने वाले लोगों को राहत प्रदान करना आदि। दौरे से उनकी वापसी पर वे रिपोर्ट तैयार करते हैं और सरकार को छूट या निस्तारण-साइयनफ़ैंड राजस्व की सिफारिश करते हैं और रिकार्ड को अपडेट व वे अन्य प्रकार के काम करने के साथ-साथ किराये की विवाद, किरायेदारों के किराया निकास, खाता पुस्तकों में प्रविष्टियां आदि के निपटारे के लिए कोर्ट में बैठते हैं।

जिले में तहसीलदार और नायब तहसीलदार की सहायता के लिए निम्न राजस्व कर्मचारी उपलब्ध है:-

  1. दफतर कानूनगो
  2. सहायक दफतर कानूनगो
  3. फिल्ड कानूनगो
  4. पेशी कानूनगो
  5. कृषि कानूनगो
  6. पटवारी

उपायुक्त जिले का रजिस्ट्रार भी होता है और जिले में पंजीकरण कार्य के लिए जिम्मेदार है। तहसील पंचकूला, कालका व रायपुरानी तथा सब तहसील बरवाला और मोरनी में तहसीलदार और नायब तहसीलदार उप-पंजीयक और संयुक्त उप-पंजीयक के कार्य करते हैं।

उप मण्डल तहसील सब तहसील
पचंकूला पंचकूला बरवाला
कालका कालका मोरनी
रायपुर रानी